महाबली रावण के जीवन के कुछ अद्बुत और अनसुने रहस्य

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

रावण एक ऐसा नाम जब इस नाम को त्रेता युग में कोई सुनता था तो डर से उसका सामना होना निश्चित था और जब  कलयुग में इस नाम को कोई सुनता है तो उसके मन में एक अहंकारी व्यक्ति, एक क्रूर राजा, एक राक्षस, एक असुर और सबको तुच्छ समझने वाला एक घमंडी व्यक्ति की छवि उभरती है | लेकिन इसके अलावा रावण सर्वशक्तिशाली, एक कुशल राजा, सबसे ज्यादा बुद्धिमान, और अपने परिवार की रक्षा हेतु किसी भी हद तक गुजर जाने वाला व्यक्ति था और इतना ही नहीं वह भगवान शिव का सबसे बड़ा भक्त था |       

रावण जन्म से राक्षस नहीं था और न ही एक ब्राह्मण था | रावण के पिता एक ब्राह्मण थे जिनका नाम ऋषि विशरवा था और रावण की माँ कैकसी एक क्षत्रीय राक्षस थी जिसे ब्रह्मराक्षस के नाम से नही जाना जाता है | इसी कारण रावण एक ऐसा व्यक्ति था जिसके अन्दर एक ब्राह्मण का दिमाग और राक्षस की शक्ति थी | उसके पास एक पुष्पक विमान था जो की समस्त संसार में बहुत ही प्रसिद्ध था | जिसका इस्तेमाल भगवान राम ने माता सीता को रावण से बचाने के बाद वापस लौटने के लिए किया था | लोगों को रावण के एक ही विमान ‘पुष्पक विमान’ के बारे में पता है लेकिन बहुत से लोग ये नहीं जानते की रावण के पास पुष्पक विमान के अलावा और भी कई विमान थे और उनके उतरने के लिए कई हवाई अड्डे भी थे | कहा जाता है कि श्रीलंका में आज भी ऐसे हवाई अड्डे हैं जिन्हें रावण ने अपने समय में इस्तेमाल किया था |              

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि भगवान शिव ने ही रावण को रावण का नाम दिया था | पुराणिक कथाओं के अनुसार ऐसा कहा जाता है की रावण भगवान शिव को कैलाश पर्वत से लंका ले जाना चाहता था | लेकिन शिव जी राज़ी नहीं हो रहे थे | फिर रावण ने पर्वत को ही उठाकर ले जाने का प्रयास करने लगा जिसे देख भगवान शिव ने अपना पैर कैलाश पर्वत पर रख दिया | जिसके कारण रावण की उंगली पर्वत के नीचे दब गयी | लकिन रावण इतना जिद्दी था की इतना दर्द होने के बावजूद भी जोर जोर से शिव तांडव करने लगा | ये सब देखकर भगवन शिव को थोडा अजीब लगा की कोई व्यक्ति इतना दर्द होने के बावजूद इतनी जोर जोर से शिव तांडव कैसे कर सकता है | बस उसी समय भगवान शिव ने रावण को रावण का नाम दे दिया | ‘रावण’ का अर्थ होता है तेज़ तेज़ आवाज़ में दहाड़ना | दोस्तों रावण सर्वशक्तिशाली तो था ही इसके साथ वो तीनो लोको का स्वामी भी था | उसने न केवल इन्द्रलोक बल्कि भूलोक के भी बड़े बड़े हिस्सों को भी अपनी असुरों की ताकत से कब्ज़ा किया हुआ था | देवता उसके नाम से थर थर कांपते थे |         

दोस्तों रावण अपने समय का सबसे विद्वान् व्यक्ति माना जाता है | कहा जाता है कि उसके पास 10 सिरों का दिमाग था | रामायण में भी बताया गया है जब रावण अपनी अंतिम साँसे ले रहा था और मृत्यु शय्या पर लेटा हुआ था  तो भगवान राम ने अपने भाई लक्ष्मण को रावण के पास बैठने को कहा ताकि लक्ष्मण रावण से राजपाठ चलाने और नियंत्रण करने की गुरु शिक्षा ले सके | ऐसा माना जाता है कि रावण इतना शक्तिशाली था कि उसने नौं ग्रहों को अपने अधिकार में ले लिया था | कथाओं में कहा जाता है कि जब उसके पुत्र मेघनाथ का जन्म हुआ था तो तब रावण ने ग्रहों को 11वें स्थान पर रहने को कहा था ताकि उसके पुत्र को अमरता प्राप्त हो सके | लेकिन शनि देव ने ऐसा करने से मन कर दिया और वो 12वें स्थान पर जा कर विराजमान हो गए | रावण इससे इतना क्रोधित हुआ कि उसने शनि देव पर आक्रमण कर दिया और कुच्छ समय के लिए शनि देव को भी बंदी बना लिया था |

Image Source - Google | Image by - wordzz.com

रावण एक आदर्श भाई और एक आदर्श पति भी था | एक तरफ उसने अपनी बहन सूर्पनखा  के अपमान का बदला लेने के लिए एक ऐसा फैसला लिया जो की आगे चलकर उसकी मौत का कारण बना और दूसरी तरफ अपनी पत्नीं को बचाने के लिए वह उस यज्ञ से भी उठ गया जिससे वह श्री राम जी के सेना को तबाह कर सकता था | इतना ही नहीं जब ब्रह्मा जी ने कुम्भकरण को हमेशा के लिए सोने का वरदान दिया था तब रावण ने घोर तपस्या करके इसकी अवधि को 6 महीने करवा दिया था | इससे पता चलता है की रावण अपने भाई, बहन और पत्नी से बहुत प्यार भी करता था और और उनकी बहुत फ़िक्र भी करता था |

Image Source - Google | Image by sirfnews.com/author/sirfnews/

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि भारत और श्रीलंका में बहुत सी ऐसी जगह जहाँ रावण की पूजा होती है | जैसे – कानपुर का कैलाश मंदिर साल में एक बार दशहरे के दिन खुलता है जहाँ रावण की पूजा होती है | इसके अलावा रावण को आंध्रप्रदेश और राजस्थान के कई हिस्सों में भी पूजा जाता है | लेकिन इतनी सारी गुणवत्ता होने के बावजूद रावण को ज्यादातर लोग एक अहंकारी राजा और घमंडी पुरुष के रूप में जानते हैं |

Image Source - Google | Image by - walkthroughindia.com
Image Source - Google | Image by - walkthroughindia.com

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Specify Facebook App ID and Secret in the Super Socializer > Social Login section in the admin panel for Facebook Login to work

Specify Google Client ID and Secret in the Super Socializer > Social Login section in the admin panel for Google Login to work

Your email address will not be published.