अमिताभ बच्चन ने खुद शेयर किया अपना बॉक्स ऑफिस रिपोर्ट कार्ड: 1978, एक साल, पांच ब्लॉकबस्टर, 24 करोड़

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


एंग्री
यंग
मैन
की
छवि

ये
वो
दौर
था
जब
अमिताभ
बच्चन
की
एंग्री
यंग
मैन
वाली
छवि
ने
उन्हें
रातों
रात
सुपरस्टार
का
दर्जा
दे
दिया
था।
उस
साल
की
टॉप
3
कमाई
वाली
फिल्में
भी
अमिताभ
बच्चन
के
नाम
ही
थी।
1978
में
सबसे
ज़्यादा
कमाई
की
थी
अमिताभ
बच्चन

रेखा

विनोद
मेहरा
स्टारर
मुकद्दर
का
सिकंदर
ने।
और
इसके
बाद
दूसरे
नंबर
पर
थी
त्रिशूल।
तीसरे
नंबर
पर
थी
डॉन।
दिलचस्प
ये
है
कि
डॉन
और
त्रिशूल
की
रिलीज़
में
केवल
एक
हफ्ते
का
अंतर
था।

सबसे ज़्यादा कमाई

सबसे
ज़्यादा
कमाई

मुक़द्दर
का
सिकंदर
1978
की
सबसे
ज़्यादा
कमाने
वाली
फिल्म
थी।
इस
फिल्म
ने
बॉक्स
ऑफिस
पर
8.5
करोड़
की
कमाई
की
थी।
फिल्म
को
डायरेक्ट
किया
था
प्रकाश
मेहरा
ने
और
इसके
लेखक
थे
क़ादर
खान।
मुक़द्दर
का
सिकंदर,
शोले
और
बॉबी
के
बाद
70
के
दशक
की
तीसरी
सबसे
ज़्यादा
कमाने
वाली
फिल्म
बनी।

अमिताभ और रेखा की जोड़ी

अमिताभ
और
रेखा
की
जोड़ी

इस
फिल्म
का
गाना
रोते
हुए
आते
हैं
सब
और
सलाम



इश्क़
मेरी
जां,
लोगों
की
ज़ुबान
पर
ऐसा
चढ़ा
कि
आज
तक
नहीं
उतरा।
फिल्म
को
फिल्मफेयर
अवार्ड्स
की
9
कैटेगरी
में
नॉमिनेट
किया
गया
जिसमें
बेस्ट
फिल्म,
प्रकाश
मेहरा
के
लिए
बेस्ट
डायरेक्टर,
अमिताभ
बच्चन
के
लिए
बेस्ट
एक्टर,
विनोद
मेहरा
और
राखी
के
लिए
बेस्ट
सपोर्टिंग
एक्टर
का
नॉमिनेशन
शामिल
था।
लेकिन
फिल्म
किसी
भी
कैटेगरी
में
नहीं
जीती।

दूसरी सबसे ज़्यादा कमाई

दूसरी
सबसे
ज़्यादा
कमाई

1978
की
दूसरी
सबसे
ज़्यादा
कमाने
वाली
फिल्म
बनी
त्रिशूल
जहां
अमिताभ
बच्चन
के
साथ
शशि
कपूर
और
संजीव
कुमार
मुख्य
भूमिकाओं
में
थे।
फिल्म
को
लिखा
था
सलीम
जावेद
ने
और
इसे
डायरेक्ट
किया
था
यश
चोपड़ा
ने।
फिल्म
में
सचिन
और
पूनम
ढिल्लन
भी
अहम
भूमिकाओं
में
थे।
फिल्म
की
हीरोइनें
थीं
राखी
और
हेमा
मालिनी।
इस
फिल्म
के
लिए
अमिताभ
बच्चन
को
बेस्ट
एक्टर,
संजीव
कुमार
को
बेस्ट
सपोर्टिंग
एक्टर
और
यश
चोपड़ा
को
बेस्ट
डायरेक्टर
का
फिल्मफेयर
नॉमिनेशन
मिला।
फिल्म
को
भी
बेस्ट
फिल्म
का
नॉमिनेशन
मिला
लेकिन
जीत
किसी
के
हाथ
नहीं
लगी।

केवल 80 लाख का बजट

केवल
80
लाख
का
बजट

त्रिशूल
का
बजट
केवल
80
लाख
का
था।
लेकिन
फिल्म
ने
बॉक्स
ऑफिस
पर
5.5
करोड़
की
कमाई
की
थी।
इस
फिल्म
ने
वर्ल्डवाईड
72
मिलियन
टिकट
बेचे
थे
और
उस
दशक
की
ब्लॉकबस्टर
फिल्मों
में
शामिल
हुई
थी।

डॉन की कमाई

डॉन
की
कमाई

डॉन
उस
साल
की
तीसरी
सबसे
ज़्यादा
कमाने
वाली
फिल्म
थी।
डॉन
ने
70
के
दशक
में
बॉक्स
ऑफिस
पर
लगभग
900
प्रतिशत
का
मुनाफा
कमाया
था।
फिल्म
केवल
70
लाख
के
बजट
पर
बनी
थी
और
इसने
बॉक्स
ऑफिस
पर
कुल
3.5
करोड़
की
कमाई
की
थी।
डॉन
हिंदी
सिनेमा
के
इतिहास
की
यादगार
फिल्मों
में
से
एक
है।

हर भाषा में रीमेक

हर
भाषा
में
रीमेक

डॉन
ने
वर्ल्डवाईड
7
करोड़
की
कमाई
की
थी।
फिल्म
को
लगभग
हर
भाषा
में
रीमेक
किया
गया।
इस
फिल्म
के
लिए
अमिताभ
बच्चन
ने
जहां
बेस्ट
एक्टर
का
फिल्मफेयर
अवार्ड
अपने
नाम
किया
वहीं
किशोर
कुमार
ने
खईके
पान
बनारस
वाला
और
आशा
भोंसले
ने
ये
मेरा
दिल
प्यार
का
दीवाना
के
लिए
बेस्ट
प्लेबैक
सिंगर
का
फिल्मफेयर
अवार्ड
अपने
नाम
किया
था।

कसमे वादे

कसमे
वादे

1978
में
अमिताभ
बच्चन
की
चौथी
ब्लॉकबस्टर
फिल्म
थी
कसमें
वादे
जो
उस
साल
की
सातवीं
सबसे
ज़्यादा
कमाने
वाली
फिल्म
थी।
फिल्म
में
राखी,
रणधीर
कपूर,
नीतू
सिंह
और
अमजद
खान
मुख्य
भूमिका
में
थे।
फिल्म
को
डायरेक्ट
किया
था
रमेश
बहल
ने।
फिल्म
का
म्यूज़िक
आर
डी
बर्मन
का
था
और
इसके
गाने
आती
रहेंगी
बहारें,
कसमें
वादें
निभाएंगे
हम
काफी
ज़्यादा
मशहूर
हुआ
था।

आज के ज़माने में 97 करोड़

आज
के
ज़माने
में
97
करोड़

फिल्म
ने
उस
दौरान,
वर्ल्डवाईड
4.7
करोड़
और
भारत
में
2.4
करोड़
की
कमाई
की
थी।
अगर
आज
के
हिसाब
से
कीमत
लगाई
जाए
तो
फिल्म
ने
लगभग
97
करोड़
की
कमाई
की
थी।
फिल्म
का
बजट
50
लाख
के
करीब
था।

गंगा की सौगंध

गंगा
की
सौगंध

1978
में
अमिताभ
बच्चन
की
आखिरी
ब्लॉकबस्टर
फिल्म
थी
गंगा
की
सौगंध
जिसने
बॉक्स
ऑफिस
पर
कुल
2.3
करोड़
की
कमाई
की
थी।
फिल्म
में
अमिताभ
बच्चन
के
अपोज़िट
थीं
रेखा।
फिल्म
तो
डायरेक्ट
किया
था
सुलतान
अहमद
ने
और
उसने
वर्ल्डवाईड
5.5
करोड़
की
कमाई
की
थी।



Supply hyperlink


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Specify Facebook App ID and Secret in the Super Socializer > Social Login section in the admin panel for Facebook Login to work

Specify Google Client ID and Secret in the Super Socializer > Social Login section in the admin panel for Google Login to work

Your email address will not be published.